Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  
dark mode

Tamil Nadu Express - தங்களை அன்புடன் வரவேற்கிறது - Swaroop Kutti

Full Site Search
  Full Site Search  
Just PNR - Post PNRs, Predict PNRs, Stats, ...
 
Thu May 19 18:38:21 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search
Filters:

Page#    352 Blog Entries  next>>
Rail News
58744 views
IR Affairs
ECR/East Central
Apr 10 (18:52)   दोहरीकरण के बाद 100 किमी प्रतिघंटा की गति से दौड़ेंगी ट्रेनें

rhythmsofrail^~   802 news posts
Entry# 5285300   News Entry# 483011         Tags   Past Edits
जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : देश में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले धनबाद रेल मंडल के गढ़वा-सिगरौली रेलखंड के दोहरीकरण का कार्य अंतिम दौर में है। गढ़वा से सिगरौली रेलखंड के बीच चल रहा दोहरीकरण काफी महत्वपूर्ण है। अभी तक सिगल ट्रैक होने के कारण इस रूट पर ट्रेनों का संचालन काफी सुस्त होने के साथ व्यस्तता भी काफी ज्यादा है। अभी इस सिगल लाइन पर 105 फीसद यातायात घनत्व है। इससे ट्रेनों में विलंब होता है। डबल ट्रैक होने पर ट्रेनों की संख्या बढ़ने के साथ गति में भी इजाफा होगा। दोहरीकरण की प्रक्रिया के पूरा होने के बाद इस मार्ग पर 100 किमी प्रतिघंटा की गति से ट्रेनें दौड़ सकेंगी। पिछले सप्ताह ही मिर्चाधुरी से मगरदहा के बीच दोहरीकरण का कार्य पूरा हुआ है। फिलहाल इस रेलखंड के 70 फीसद के करीब हिस्से का कार्य पूरा हो चुका है। दर्जन भर पुलों का निर्माण जारी है। इस रेलखंड के...
more...
दोहरीकरण पूरा होने का सबसे ज्यादा लाभ नार्दर्न कोलफील्ड्स (एनसीएल) को मिलेगा। एनसीएल का कोयला इसी रेलखंड से ही तमाम परियोजनाओं में भेजा जाता है। बीते वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान एनसीएल ने 15.66 फीसद बड़ी वृद्धि के साथ रिकार्ड 125.66 मिलियन टन कोयला प्रेषित किया। पिछले वर्ष कोयला संकट ने बिजली संकट पैदा की थी। पिछले वित्त वर्ष के दौरान ही 17 फीसद वार्षिक वृद्धि के साथ 110.6 मिलियन टन कोयला बिजलीघरों को भेजा गया। छह फेज में इस रेलखंड के चल रहे आधुनिकीकरण से धनबाद रेल मंडल के राजस्व में भारी वृद्धि हो सकती है। धनबाद है सबसे ज्यादा कमाई वाला रेल मंडल दिनदहाड़े शिक्षक के घर से 30 हजार नकद व आभूषण उड़ाए यह भी पढ़ें सबसे ज्यादा राजस्व पैदा करने में धनबाद मंडल ने पूरे देश में अपनी बादशाहत कायम रखी है। मंडल ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान माल भाड़ा से 19522.89 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्त किया है। यह पिछले वित्त वर्ष 2020-21 से 30.17 फीसद अधिक है। धनबाद मंडल ने लोडिग में भी अपने पिछले प्रदर्शन को बेहतर किया है। वित्त वर्ष 2021-22 में मंडल ने कुल 158.72 मिलियन टन लोडिग की जो वित्त वर्ष 2020-21 से 18.81 फीसद अधिक है। Edited By: Jagran

जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : देश में सबसे ज्यादा कमाई करने वाले धनबाद रेल मंडल के गढ़वा-सिगरौली रेलखंड के दोहरीकरण का कार्य अंतिम दौर में है। गढ़वा से सिगरौली रेलखंड के बीच चल रहा दोहरीकरण काफी महत्वपूर्ण है। अभी तक सिगल ट्रैक होने के कारण इस रूट पर ट्रेनों का संचालन काफी सुस्त होने के साथ व्यस्तता भी काफी ज्यादा है। अभी इस सिगल लाइन पर 105 फीसद यातायात घनत्व है। इससे ट्रेनों में विलंब होता है। डबल ट्रैक होने पर ट्रेनों की संख्या बढ़ने के साथ गति में भी इजाफा होगा। दोहरीकरण की प्रक्रिया के पूरा होने के बाद इस मार्ग पर 100 किमी प्रतिघंटा की गति से ट्रेनें दौड़ सकेंगी। पिछले सप्ताह ही मिर्चाधुरी से मगरदहा के बीच दोहरीकरण का कार्य पूरा हुआ है। फिलहाल इस रेलखंड के 70 फीसद के करीब हिस्से का कार्य पूरा हो चुका है। दर्जन भर पुलों का निर्माण जारी है। इस रेलखंड के दोहरीकरण पूरा होने का सबसे ज्यादा लाभ नार्दर्न कोलफील्ड्स (एनसीएल) को मिलेगा। एनसीएल का कोयला इसी रेलखंड से ही तमाम परियोजनाओं में भेजा जाता है। बीते वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान एनसीएल ने 15.66 फीसद बड़ी वृद्धि के साथ रिकार्ड 125.66 मिलियन टन कोयला प्रेषित किया। पिछले वर्ष कोयला संकट ने बिजली संकट पैदा की थी। पिछले वित्त वर्ष के दौरान ही 17 फीसद वार्षिक वृद्धि के साथ 110.6 मिलियन टन कोयला बिजलीघरों को भेजा गया। छह फेज में इस रेलखंड के चल रहे आधुनिकीकरण से धनबाद रेल मंडल के राजस्व में भारी वृद्धि हो सकती है। धनबाद है सबसे ज्यादा कमाई वाला रेल मंडल

सबसे ज्यादा राजस्व पैदा करने में धनबाद मंडल ने पूरे देश में अपनी बादशाहत कायम रखी है। मंडल ने वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान माल भाड़ा से 19522.89 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्त किया है। यह पिछले वित्त वर्ष 2020-21 से 30.17 फीसद अधिक है। धनबाद मंडल ने लोडिग में भी अपने पिछले प्रदर्शन को बेहतर किया है। वित्त वर्ष 2021-22 में मंडल ने कुल 158.72 मिलियन टन लोडिग की जो वित्त वर्ष 2020-21 से 18.81 फीसद अधिक है।
Mouni Roy का बोल्ड अंदाज देख फैंस के छूटे पसीने, तस्वीरें हुईं वायरल
उर्फी जावेद ने कराया हॉट फोटोशूट, देखें वायरल तस्वीरें
उर्फी जावेद की साइड से फुल ओपन लेस वाली ड्रेस देख फैंस फिर हुए हैरान
संकेत जो इशारा करते हैं कमजोर इम्युनिटी की ओर
Punjab CM Bhagwant Mann बोले- ऐसा माहौल बनाएंगे कि अंग्रेज भी नौकरियां मांगने पंजाब आएंगे
Shehbaz Sharif set to become the new Prime Minister of Pakistan after Imran Khan loses no trust vote, biography, family, education and political career of Shehbaz Sharif
Covid Update 4th Wave पर दो गुटों में बटे Expert, China आंकड़ों को लेकर कर रहा हेरा फेरी Corona Update
Copyright © 2022 Jagran Prakashan Limited.
Total Vaccination:1,85,70,71,655
Active:13,730
Death:5,21,181

2 Public Posts - Sun Apr 10, 2022

1 Public Posts - Mon Apr 11, 2022

13267 views
Apr 11 (19:34)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5285300-4            Tags   Past Edits
CIC route and GHD- DOS are Rajdhani routes, 130 must be done. Filhal 100-110 hai speed .

20683 views
Apr 11 (19:36)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5285300-5            Tags   Past Edits
Almost KTE to DHN is doubled and patches left will be doubled in coming 2 years , this will be alternate route to connect Kolkata and Mumbai.

3 Public Posts - Tue Apr 12, 2022

1 Public Posts - Fri Apr 15, 2022

1986 views
Today (09:52)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5285300-10            Tags   Past Edits
No not yet. Avi ECR is more focused on SKTN/ SGRL- CPU for coal movement.
Rail News
51640 views
IR Affairs
SER/South Eastern
Apr 11 (07:34)   सप्ताह का साक्षात्कार : जल्द पूरा होगा रांची-बंडामुंडा सेक्शन में रेल ट्रैक डबलिंग का काम, अगले पांच साल में एयरपोर्ट जैसा दिखेगा रांची स्टेशन

AdittyaaSharma^~   37627 news posts
Entry# 5286009   News Entry# 483038         Tags   Past Edits
सप्ताह का साक्षात्कार जल्द पूरा हो जाएगा रांची बंडामुंडा सेक्शन में रेलवे के डबलिंग का काम
सप्ताह का साक्षात्कार : जल्द पूरा होगा रांची-बंडामुंडा सेक्शन में रेल ट्रैक डबलिंग का काम, अगले पांच साल में एयरपोर्ट जैसा दिखेगा रांची स्टेशन
साक्षात्कार : रांची रेल मंडल के डीआरएम प्रदीप गुप्ता।
कामन इंट्रो : रांची रेल मंडल ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं। यात्री
...
more...
सुविधाओं से जुड़े कई काम हो रहे हैं तो नई ट्रेनों की सौगात सहित विभिन्न योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है। चाहे वह हटिया-बंडामुंडा रेल लाइन का दोहरीकरण हो, स्टेशनों व रेल यात्रा के दौरान गुणवत्तापूर्ण सुविधा उपलब्ध कराने की बात हो, सभी पर लगातार नजर रखी जा रही है। चल रहे काम व भविष्य की योजनाओं के बारे में रांची रेल मंडल के मंडलीय रेल प्रबंधक डीआरएम प्रदीप गुप्ता ने खुलकर बातें की। प्रस्तुत है जागरण संवाददाता शक्ति सिंह से बातचीत के अंश :
सवाल- हटिया- बंडामुंडा सेक्शन के रेल लाइन का डबलिंग रेलवे की महत्वकांक्षी योजना है। मगर ऐसा क्यों हो रहा है कि निर्माण कार्य में लगे विभिन्न एजेंसियों को काम रोक देना पड़ता है।
जवाब : असामाजिक तत्वों द्वारा निर्माण कार्य में अड़चन डालने के कारण काम प्रभावित हो रहा था। अब ऐसा नहीं है। पिछली बार हटिया-बंडामुंडा सेक्शन में समस्या उत्पन्न हुई थी। उसके बाद राज्य सरकार द्वारा सुरक्षा व्यवस्था बनाए जाने से रांची बंडामुंडा सेक्शन में डबलिंग का काम सुगम तरीके से चल रहा है। सितंबर से लगातार काम चल रहा है, जिसके कारण दो सेक्शन में 20 किलोमीटर लाइन चालू कर दी गई है। हटिया- बालसिरिंग भी इस माह में चालू कर दिया जाएगा। अप्रैल माह के अंत तक के 40 किलोमीटर लाइन डबलिंग हो जाएगा।
सवाल - गर्मी का मौसम है। और इस मौसम में रांची रेल मंडल के कुछ प्रमुख स्टेशनों पर पानी की किल्लत है। रांची स्टेशन और हटिया स्टेशन पर वाटर वेंडिंग मशीन भी खराब है। वहीं इटकी स्टेशन, नागजुआ और नर्कोपी स्टेशन पर पानी की समुचित व्यवस्था नहीं है।
जवाब - रेलवे द्वारा गर्मी में यात्रियों का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इसके लिए ढाई महीने तक विशेष मॉनिटरिंग भी की जा रही है। मैंने स्वयं रांची से लोहरदगा के बीच विभिन्न स्टेशनों पर पानी की व्यवस्था का जायजा लिया है। यह बात सही है कि गर्मियों के मौसम में जल स्तर के नीचे जाने से चापानल खराब हो जाता है। जब कभी पानी को लेकर समस्या होती है तो तत्काल संबंधित स्टेशन के स्टेशन मास्टर द्वारा सूचना दी जाती है। 16 से 18 घंटे के बीच व्यवस्था दुरुस्त कर ली जाती है। आइआरसीटीसी ने रांची और हटिया स्टेशन स्थित वाटर वेंडिंग मशीन के संचालक को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है। वैकल्पिक व्यवस्था के तहत स्टेशन पर टैब वाटर की व्यवस्था को दुरुस्त कर लिया गया है, यही नहीं पानी की गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखा गया है , इसकी नियमित मॉनिटरिंग भी होती है।
सवाल :- रांची और हटिया स्टेशन पर कुली की संख्या मात्र 28 है। यह संख्या पिछले 15 सालों से है। बुजुर्ग यात्रियों को काफी परेशानी होती है।
उत्तर : यह सवाल अच्छा है। कोरोना के कारण ट्रेनों का परिचालन काफी कम हो गया था। अब स्थिति सामान्य हो रही है। रेलवे का यह प्रयास है कि कोविड के पहले जो संख्या स्टेशन पर कुली की दिखती थी, उन्हें सम्मानित किया जाए। मुरी स्टेशन से भी कुछ कुलियों को लाया गया है। भविष्य में स्टेशन का रीडेवलपमेंट होना है। अगले 5 सालों में स्टेशन का स्वरूप बिल्कुल एयरपोर्ट की तरह होगा। जहां बुजुर्ग यात्रियों को परेशानी नहीं होगी।
सवाल :- रेलवे द्वारा रेलवे क्रॉसिंग गेट को बंद करने के लिए रोड ओवरब्रिज और जगह-जगह सबवे का निर्माण किया जा रहा है। इसके बावजूद राजधानी जैसे शहर में पांच प्रमुख क्षेत्र में रेलवे क्रॉसिंग है, जहां हजारों की संख्या में लोग आवागमन करते हैं। रोड ओवर ब्रिज का कार्य अभी अधूरा है। क्या राज्य सरकार का रेलवे को सहयोग नहीं मिल रहा है।
जवाब - सरकार से रेलवे का पूरा सहयोग है। जो भी कार्य किए जा रहे हैं सभी जनता के लिए हैं। अगर जनता ही विरोध करे तो इसमें ज्यादा करने का मौका नहीं मिलता है। मेकॉन का मामला केंद्र सरकार के पास है। हरी झंडी मिलते ही अप्रोच रोड बन जायेगा। नया सराय में रोड ओवर ब्रिज का काम रेलवे की ओर से लगभग पूरा हो गया है। केवल क्रॉस रोड का निर्माण राज्य सरकार को करना है। यहां कुछ अतिक्रमण है जिन्हें राज्य सरकार को हटाना हैं। चुटिया स्थित रेलवे क्रॉसिंग वाला मामला लोगों के विरोध के कारण नहीं बन रहा है। वही केतारी बागान के फाटक को चौड़ा किया गया है। डबल बैरियर लगाया गया है। एचईसी वाले मामले में संयुक्त निरीक्षण कर एलाइनमेंट फाइनल कर लिया गया है।
सवाल - रेलवे द्वारा सभी ट्रेनों बायो टॉयलेट लगाए गए हैं। लेकिन जब यह ट्रेनें प्लेटफार्म पर लगती है तो वहां आंख बंद कर कोई भी यात्री बता देगा कि प्लेटफार्म पर कोई ट्रेन लगी है क्योंकि ट्रेन से काफी बदबू आती है। क्या मानक का पालन नहीं हो रहा है।
जवाब - बायो टॉयलेट में सभी मानकों का पालन किया जाता है जो उसके लिए निर्धारित है। मगर कहीं बाहर कुछ यात्री बायो टॉयलेट में प्लास्टिक या अन्य चीज डाल देते हैं जिसकी मनाही है। यही कारण है कि स्टेशन पर ट्रेन के आने के बाद स्टेशन पर एक अलग सी दुर्गंध देती है। यात्रियों को बीच-बीच में काउंसलिंग किया जाता है। जरूरत पड़ने पर एक दो यात्रियों पर फाइन भी काटा जाता है। इसके बावजूद सुधार नहीं दिखेगा तो मजबूरन सख्ती बरतनी पड़ेगी।
सवाल - रांची-लखनऊ ट्रेन परिचालन को लेकर का मामला काफी आगे बढ़ चुका है। राजधानी के लोगों को यह ट्रेन कब तक मिलेगी।
जवाब : वर्तमान स्टेटस यही है कि जो रेलवे का अप्रैल माह के अंत में अगले एक साल के लिए टाइम टेबल बनता है। उस टाइम टेबल में रांची लखनऊ ट्रेन को शामिल किया गया है। ट्रेन दक्षिण पूर्व रेलवे होते हुए ईसीआर जाएगी, इसके बाद ट्रेन एनसीआर जाएगी और अंत में नॉर्दन रेलवे पहुंचेगी। इसमें 4 जोनल कार्यालय शामिल है। ट्रेन परिचालन के पहले 4 जोनल कार्यालय के बीच समन्वय जरूरी रखता है। इसलिए इंडियन रेलवे टाइम टेबल कमेटी की बैठक में चर्चा होगी। अप्रैल के अंत में बैठक होनी है उम्मीद है कि इसे टाइम टेबल कमेटी शामिल कर लिया जाएगा।
सवाल : रांची रेल मंडल में पहले से ही लोको पायलट की कमी है। मगर दूसरे मंडल से ट्रेन परिचालन के लिए मुरी लॉबी से लोको पायलट भेजे गए। सुधार की दिशा में क्या कदम उठाए जा रहे हैं।
जवाब : रेलवे में कोई भी काम अकेले नहीं होता है। इसके लिए समन्वय की जरूरत होती है। ऐसा मामला संज्ञान में आने पर दो डिवीजन के बीच बातचीत होती है। और समस्या का समाधान भी किया जाता है।
सवाल : रांची रेल मंडल में एक्सेस लोड मालगाड़ी के परिचालन की अनुमति क्यों दी जाती है। यही वजह है कि हाल के दिनों में रेल बर्निंग (ट्रैक पर का व्हील स्लिप या खिसाव का होना) का मामला सामने आया था।
जवाब :सिर्फ एक्सेस लोड से ही रेल बर्निंग की समस्या नहीं है। कई बार मौसम की समस्या देखने को मिलती है। कई बार व्हील स्लीप का मामला बारिश होने और लोको पायलट भी होता है। लोको पायलट द्वारा बैंकर्स मांगे जाने पर स्थित सुविधा उपलब्ध कराई जाती है।
सवाल - लोको पायलट की शिकायत रहती है कि कई बार उन्हें बिना गार्ड के ट्रेन परिचालन के लिए दबाव बनाया जाता है। हाल के दिनों में ऐसा मामला मुरी लॉबी में आया था।
जवाब - रेलवे में हर चीज के लिए नियम बना हुआ है, ऐसा नहीं है कि मालगाड़ी में गार्ड नहीं दिया जाता है। कुछ ही मामलों में गार्ड नहीं दिया जाता है। वह भी नियम के तहत किया जाता है। किसी लोको पायलट पर गार्ड न देने के लिए कोई दबाव नहीं बनाया जाता है। जहां तक टीयूटीटी की बात है, जब इसकी सुविधा ट्रेन में होगी,तो स्वतः गार्ड नहीं दिया जाएगा।

9 Public Posts - Mon Apr 11, 2022

17536 views
Apr 11 (21:17)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5286009-10            Tags   Past Edits
SER-ECR-NCR-NR hote hue toh RNC-TORI- DOS-DDU - PRYJ - LKO yeh bhi possibility hai. But via chopan is needed more as RNQ and DXN lost connectivity to state capital

Jharkhand and orrisa sampark kranti ka slot ek ek din vacant hai . JHSK ko ek din via CPU aur ODSK ko ek din via RNC, HZBN, KQR or vice versa try kar sakte hai.
Rail News
Commentary/Human Interest
WCR/West Central
Mar 15 (11:16)   Coal India: तेलंगाना के काजीपेट तक शक्तिपुंज को चलाने का बढ़ा दबाव, कोयला मंत्री भी गंभीर

Subhojyoti^~   18 news posts
Entry# 5243359   News Entry# 480350         Tags   Past Edits
4 compliments
😂😂😂 🤣🤣🤣🤣🤣🤣😂😂😂😂😂😂 🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣🤣 LOL,
शक्तिपुंज एक्सप्रेस का विस्तार करने की मांग वर्षो से अखिल भारतीय खदान मजदूर संघ करता आ रहा है। कोयला मंत्री प्रह्ललाद जोशी के साथ हुई बैठक में इस मांग को प्रमुखता से रखा गया। जिसे जोशी ने बेहतर सुझाव बताते हुए रेल मंत्री से बात करने का आश्वासन दिया था।
जासं, धनबाद। हावड़ा से खुलनेवाली शक्तिपुंज एक्सप्रेस को तेलंगाना के काजीपेट तक चलाने की बहुप्रतिक्षित मांग को अब कोयला मंत्री ने भी अपना समर्थन दिया है। उन्होंने रेल मंत्री से बात कर इस ट्रेन को काजीपेट तक विस्तारित कराने का भरोसा दिलाया है। अभी शक्तिपुंज कोल इंडिया के मुख्यालय कोलकाता हावड़ा से खुलकर कोल इंडिया की ईसीएल, बीसीसीएल, सीएमपीडीआइएल व सीसीएल व एनसीएल के इलाकों से होकर गुजरती है। जबलपुर तक
...
more...
जानेवाली इस ट्रेन का काजीपेट तक विस्तार होने से उसकी पहुंच में नागपुर स्थित एससी कोल कंपनी के इलाकों तक हो जाएगी। इससे पांच राज्यों के यात्रियों को फायदा मिलेगा। भी पढ़ें गौरतलब है कि इस ट्रेन का विस्तार करने की मांग वर्षो से अखिल भारतीय खदान मजदूर संघ करता आ रहा है। कोयला मंत्री प्रह्ललाद जोशी के साथ आठ मार्च को हुई उच्च स्तरीय बैठक में इस मांग को प्रमुखता से रखा गया था। जिसे जोशी ने बेहतर सुझाव बताते हुए रेल मंत्री से बात करने का आश्वासन दिया था। मालूम हो कि कोल इंडिया की बीसीसीएल, सीसीएल, एनसीएल व सीएमपीडीआइएल बड़ी कंपनियां हैं। इनमें उत्तर भारत के साथ मध्य और दक्षिण भारत के लोग बड़ी संख्या में नियोजित हैं। इन्हें अपने कार्यस्थल से घर और घर से कार्यस्थल आने जाने में ट्रेन के अलावा कई साधनों का प्रयोग करना पड़ता है। इस ट्रेन का विस्तार होने से उन सभी कर्मियों का समय और पैसा तो बचेगा ही, साथ ही शारीरिक और मानसिक आराम भी मिलेगा। एबीकेएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र सिंह ने कहा कि शक्तिपुंज को तेलंगाना तक करने की मांग रखी गई है। कोयला मंत्री ने सकारात्मक पहल करने का आश्वासन दिया है। Edited By: Mritunjay
जासं, धनबाद। हावड़ा से खुलनेवाली शक्तिपुंज एक्सप्रेस को तेलंगाना के काजीपेट तक चलाने की बहुप्रतिक्षित मांग को अब कोयला मंत्री ने भी अपना समर्थन दिया है। उन्होंने रेल मंत्री से बात कर इस ट्रेन को काजीपेट तक विस्तारित कराने का भरोसा दिलाया है। अभी शक्तिपुंज कोल इंडिया के मुख्यालय कोलकाता हावड़ा से खुलकर कोल इंडिया की ईसीएल, बीसीसीएल, सीएमपीडीआइएल व सीसीएल व एनसीएल के इलाकों से होकर गुजरती है। जबलपुर तक जानेवाली इस ट्रेन का काजीपेट तक विस्तार होने से उसकी पहुंच में नागपुर स्थित एससी कोल कंपनी के इलाकों तक हो जाएगी। इससे पांच राज्यों के यात्रियों को फायदा मिलेगा।

गौरतलब है कि इस ट्रेन का विस्तार करने की मांग वर्षो से अखिल भारतीय खदान मजदूर संघ करता आ रहा है। कोयला मंत्री प्रह्ललाद जोशी के साथ आठ मार्च को हुई उच्च स्तरीय बैठक में इस मांग को प्रमुखता से रखा गया था। जिसे जोशी ने बेहतर सुझाव बताते हुए रेल मंत्री से बात करने का आश्वासन दिया था। मालूम हो कि कोल इंडिया की बीसीसीएल, सीसीएल, एनसीएल व सीएमपीडीआइएल बड़ी कंपनियां हैं। इनमें उत्तर भारत के साथ मध्य और दक्षिण भारत के लोग बड़ी संख्या में नियोजित हैं। इन्हें अपने कार्यस्थल से घर और घर से कार्यस्थल आने जाने में ट्रेन के अलावा कई साधनों का प्रयोग करना पड़ता है। इस ट्रेन का विस्तार होने से उन सभी कर्मियों का समय और पैसा तो बचेगा ही, साथ ही शारीरिक और मानसिक आराम भी मिलेगा। एबीकेएमएस के कार्यकारी अध्यक्ष महेंद्र सिंह ने कहा कि शक्तिपुंज को तेलंगाना तक करने की मांग रखी गई है। कोयला मंत्री ने सकारात्मक पहल करने का आश्वासन दिया है।

16 Public Posts - Tue Mar 15, 2022

22644 views
Mar 16 (10:24)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5243359-17            Tags   Past Edits
Mumbai nagpur ya indore sahi tha extension. Kazipet koi badi jagah bhi nahi, pass me 3hr durr secunderabad kar dete. Waise train WCR ka hai, extension likely will be ruled out.Infact 0 percent chance, if via Gondia then Nagpur will not be touched. Kuch bhi altu faltu demand kar dete hain, bina map aur feasibility dekhe. End to end distance Kazipet se Howrah kafi badh jayega.

1 Public Posts - Mon Mar 21, 2022

14280 views
Mar 21 (14:05)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5243359-19            Tags   Past Edits
Dhanbad has history of being neglected, the long distance trains which it has unique long rotes like DHN KOP exp, and rest it has are ultra-slow with heap of halts like DHN- ALLP Exp and DHN – FZR Exp. This will fall in same legacy of trains with unique long routes, Else terminate at BZA.
Rail News
16501 views
Commentary/Human Interest
WCR/West Central
Mar 16 (22:29)   ट्रेन की टक्कर लगने से बाघ घायल, संजय टाइगर रिजर्व की टीम पहुंची

ELSG^~   3328 news posts
Entry# 5244882   News Entry# 480509         Tags   Past Edits
सीधी, नईदुनिया प्रतिनिधि। कटनी- चोपन रेलवे लाइन में जा रही ट्रेन की टक्‍कर से एक बाघ गंभीर रूप से घायल हो गया। बाघ ट्रैक के नीचे बैठा हुआ है। घायल होने के बाद भी बाघ के गुर्राने की आवाज भी सुनाई दे रही है। यह पूरा मामला संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के बड़ियां बिटखुरी क्षेत्र की है। सूचना मिलते ही संजय टाइगर रिजर्व का हमला मौके पर पहुंच गया है डॉक्टर टीम भी साथ में है।
बता दें कि संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के बड़ियां बिटखुरी गांव जंगल के बीच से कटनी चोपन जा रही रेलवे लाइन में ट्रेन जा रही थी। ट्रेन की ठोकर लगने से बाघ गंभीर रूप से घायल हो गया है। जिसके बाद वह रेलवे ट्रैक के नीचे
...
more...
बैठा हुआ है। ग्रामीणों ने जब देखा तो इसकी जानकारी रेंज के कर्मचारियों को बुधवार शाम 6:30 बजे दी गई। जिसके बाद तत्काल वन अमला मौके पर पहुंच गया। टीम के साथ डाक्टर भी मौजूद हैं।
रेलवे ट्रैक से आए दिन होती हैं घटनाएं : संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के एरिया से होते हुए कटनी चोपन रेलवे ट्रैक गई है। दरअसल चारों ओर जंगलों से घिरा हुआ संजय टाइगर रिजर्व में बाघ, तेंदुआ, भालू समेत कई जंगली जानवर भारी संख्या में हैं। इसके पहले भी ट्रेन में टक्‍कर और बीच में आने से चीतल की जान जा चुकी है।
इनका कहना है :
संजय टाइगर रिजर्व क्षेत्र के बड़ियां बिटखुरी गांव में ट्रेन के टक्कर लगने से एक बाघ घायल हो गया है। सूचना मिलते ही मौके पर हमला और डाक्टर टीम पहुंच चुकी है। रेस्क्यू किया जा रहा है।
- वाइपी सिंह, सीसीएफ संजय टाइगर रिजर्व सीधी
…………...

Rail News
15357 views
Mar 17 (09:53)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5244882-1            Tags   Past Edits
Bad news. #Tiger got hit by train.
Rail News
25462 views
IR Affairs
ECR/East Central
Feb 22 (07:36)   दिसंबर तक मुक्कमल हो रेल लाइन का दोहरीकरण

AdittyaaSharma^~   37627 news posts
Entry# 5224976   News Entry# 478326         Tags   Past Edits
अनपरा। एनसीएल कोयला खदानों से रेल मार्ग से अधिक कोयले की निकासी को लेकर कोयला मंत्रालय गम्भीर हो गया है । शक्तिनगर से सिंगरौली वाया करैला रोड के लगभग 45 किलोमीटर लम्बे निर्माणाधीन दोहरीकरण कार्य को त्वरित गति से करने के सख्त निर्देश दिये गये है। इसके तहत करैला रोड से सिंगरौली के मध्य 12 किलोमीटर दोहरीकरण को जुलाई 2022 तक तथा 11 किलोमीटर कार्य को दिसम्बर 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है । सिंगरौली से महदहिया और महदहिया से कटनी के मध्य 260 किलोमीटर दोहरीकरण को भी शीघ्र पूरा करने के निर्देश कोयला मंत्रालय ने दिये है। कार्यदायी संस्था इरकान ने चालू वित्त वर्ष में 69.94 किलोमीटर, वित्त वर्ष 2022-23 में 70.10 किलोमीटर और वित्त वर्ष 2023-24 में शेष 76.91 किलोमीटर दोहरीकरण मुक्कमल करने का भरोसा कोयला मंत्रालय को दिया है। बताया कि दोहरीकरण में बाधक लगभग 72.83 हेक्टेयर फारेस्ट लैंड का क्लीयरेंस मांगा...
more...
गया है।बीते 22 अक्तूबर को 46 हेक्टेयर की स्वीकृति हासिल हुई है। 44.37 हेक्टेयर की आंशिक स्वीकृति 27 सितम्बर को मिली है । एनसीएल प्रबन्धन का कहना है कि महज शक्तिनगर से महदहिया रेल लाइन के दोहरीकरण मुक्कमल होने से पांच रैक कोयला प्रति दिन की अधिक निकासी हो सकेगी।
कोयला मंत्रालय की एक बैठक सेकेट्री कोल अनिल जैन की अध्यक्षता में बीत सात फरवरी को हुई जिसमे रेलवे के ईडी, कोल इंडिया के चेयरमैन एवं एनसीएल समेत तमाम कोयला कम्पनियों के सीएमडी शामिल हुए। बैठक में बताया कि कोयले के अन्तर राष्ट्रीय दामों में हुई भारी वृद्धि के कारण आयातित कोयले से होने वाला बिजली उत्पादन आठ प्रतिशत से घटकर महज 3 प्रतिशत रह गया है। आगे इसमें और भी कमी आ सकती है। इसके कारण घरेलू कोयले की मांग में भारी वृद्धि की सम्भावना के मद्देजनर कोयला खदानों से निकासी के लिये निर्माणाधीन तमाम 14 प्रोजेक्ट निधारित समय सीमा पर मुक्कमल किया जाना जरूरी है जिससे कि आयातित कोयले की कमी को घरेलू कोयला भेज कर पूरा किया जा सके।

1 Public Posts - Wed Feb 23, 2022

10432 views
Mar 08 (21:16)
Rhythms of Rail
rhythmsofrail^~   7844 blog posts
Re# 5224976-2            Tags   Past Edits
Sgrl obra in 6 months will be ready. Baki abhi 1 year me ho jayega. But considering railways 2 yrs will take for all things to be done.
Page#    352 Blog Entries  next>>

Fundraiser

Our member Abhishek Jaiswal is in URGENT need of Funds, as his newborn son fights for his life in AIIMS Hospital, New Delhi. Please visit this link click here and contribute whatever you can.

Let's support Abhishek in his hour of need. THANKS.

Leading Polls

4211440 ★★★ 142AvishekRay~
1897448 ★★★ 215prince maan~
5248097 ★★★ 58Jordan~
1860406 ★★★ 184~
4691513 ★★★ 44Amogh^~
4475041 ★★★ 71ELSG^~
5342520  17Subrat Shrivastava...

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 5148000
    Nov 29 2021 (06:40AM)


    A new feature will be released soon, whereby you can follow blogs tagged with specific Trains & Stations. If you have already posted blogs tagged with some Train/Station, then you will be set to automatically follow that Train/Station. Thereafter, any future news/blogs tagged with those Trains/Stations will be marked to your...
  • Entry# 5093784
    Oct 13 2021 (07:04AM)


    These days, every other day, we are getting requests from members to allow email login to their FB-based IRI account. 10 years ago, we had given the option for users to login through FaceBook - in retrospect, this was a mistake. These days, apparently, users are quitting FaceBook in droves because...
  • Entry# 4906979
    Mar 14 2021 (01:12AM)


    Followup to: Fmt Changes The new version of FmT 2.0 will soon be here - in about 2 weeks. As detailed in the previous announcement, many of the old FmT features like Train TT, Speedometer, Geo Location, etc. will be REMOVED. It will be a bare-bones simple app, focused on trip blogging. It...
  • Entry# 4898771
    Mar 06 2021 (10:33PM)


    There are some changes coming to FMT. Many of the features of FMT, like station arrival, TT, speed, geo, passing times, station time, etc. are ALREADY available in OTHER railway apps. So all of these features will be REMOVED. We'll have ONLY BLOGGING - quick upload of pics/videos/audio, etc. You may attach...
  • Entry# 4785432
    Nov 21 2020 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
  • Entry# 4680754
    Aug 03 2020 (10:10PM)


    In the next few days, we shall introduce a "Personal Gallery". This will consist of your own personal pics - no restrictions. You can upload any number of pics to your personal gallery - with with or without trains. This personal gallery will be part of your Member Profile. Thanks.
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy