Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 #
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt
Forum Super Search
 ↓ 
×
HashTag:
Freq Contact:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Blog Category:
Train Type:
Train:
Station:
Pic/Vid:   FmT Pic:   FmT Video:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    Topics:    

Search
  Go  
dark mode

The window of a train is more entertaining than TV - Kirti Solanki

Full Site Search
  Full Site Search  
FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE
 
Sun Jun 26 23:30:18 IST
Home
Trains
ΣChains
Atlas
PNR
Forum
Quiz Feed
Topics
Gallery
News
FAQ
Trips
Login
Post PNRPost BlogAdvanced Search
Filters:

Page#    580 Blog Entries  next>>
Rail News
IR Affairs
NCR/North Central
Jun 15 (12:10)   Gwalior Railway News: सितंबर तक पुरा होगा विद्युतीकरण का काम, खजुराहो के लिए चलेगी वंदे भारत ट्रेन

AdittyaaSharma^~   39286 news posts
Entry# 5379179   News Entry# 489282         Tags   Past Edits
3 compliments
White elephant in pipeline Great gift for bundlekhand Shd b via MBA (shortest route)
Gwalior Railway News: बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। उत्तर मध्य रेलवे अगस्त के अंत तक ललितपुर से खजुराहो तक रेल लाइन का विद्युतीकरण का कार्य पूरा कर लेगी। इसके पूरा होने से सितंबर से दिल्ली से खजुराहो के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन संचालित की जा सकती है। खजुराहो के लिए चलने वाली ट्रेन के रैक प्वाइंट को मंजूरी दे दी गई है।
झांसी रेल मंडल के अंतर्गत 1401 किलोमीटर लंबा ट्रैक है। इसमें से 1323 किमी लंबे ट्रैक पर ओएचई लाइन डालकर विद्युतीकरण कर दिया गया है। इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनें दौड़ने लगी हैं। 78 किमी का काम होना बाकी है। जिस पर रेलवे तेजी से काम कर रहा है। इसके पूरा होने के बाद इंजन नहीं बदलना पड़ेगा। इससे समय की
...
more...
बचत होगी। साथ ही इस ट्रैक पर ट्रेनों की रफ्तार 70 से 110 किलोमीटर प्रतिघंटे हो जाएगी। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली व खजुराहो को जोड़ा जाएगा। दिल्ली खजुराहो वंदे भारत ट्रेन के झांसी के रास्ते चलने की संभावना है। दिल्ली से खजुराहो के बीच चलने वाली ट्रेन 600 किलोमीटर की दूरी तय करते हुए हरियाणा, यूपी, राजस्थान होते हुए खजुराहो पहुंचेगी। इस ट्रेन के सिर्फ तीन ठहराव होंगे, एक आगरा, दूसरा झांसी व तीसरा ग्वालियर। हालांकि ट्रेन के रूट और समय सारिणी को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। माना जा रहा है कि रेलवे बोर्ड की ओर से इस संबंध में जल्द ही कुछ दिशा-निर्देश आ सकते हैं।
ओवर चार्जिंग रोकने रेलवे ने चलाया अभियानः रेल मंत्रालय ने रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में खानपान की वस्तुओं को महंगी दर पर बेचे जाने पर अंकुश लगाते हुए अपनी 139 सेवा को सक्रिय कर दिया। यात्री अब अधिक दाम वसूले जाने की शिकायत रेलवे की 139 सेवा पर कर सकते हैं। जिस पर न केवल सीधी कार्रवाई होगी, इसके बारे में शिकायतकर्ता को भी बताया जाएगा। यात्रियों से अधिक वसूली के मामले को रोकने के लिए ग्वालियर सहित कई रेलवे स्टेशनों के स्टालों पर खानपान व अन्य सभी सामग्री की रेट लिस्ट लगा दी गई है। जिसकी नियमित निगरानी मंडल वाणिज्य प्रबंधक और स्टेशन निदेशक एलआर सोलंकी कर रहे हैं।

14 Public Posts - Wed Jun 15, 2022

29 Public Posts - Thu Jun 16, 2022

5 Public Posts - Fri Jun 17, 2022

7635 views
Jun 18 (14:18)
Believe in You
akhileshchauras~   3499 blog posts
Re# 5379179-50            Tags   Past Edits
Banda wale Mahoba se hi chadenge.....jaise ki abhi KURJ-UDZ ke liye aate hai

1 Public Posts - Sat Jun 18, 2022
Rail News
11110 views
Commentary/Human Interest
CR/Central
May 29 (09:37)   बारामती-फलटण-लोणंद रेल्वे मार्गासाठी १३ गावांतील भूसंपादन वेगात; जूनअखेर प्रक्रिया पूर्ण करण्याचे उद्दिष्ट

Punekar^~   622 news posts
Entry# 5360289   News Entry# 487589         Tags   Past Edits
Web Title: Accelerated land acquisition villages baramati phaltan lonand railway line aims complete process ysh
करोनामुळे रखडलेल्या बारामती-फलटण-लोणंद रेल्वे मार्गाच्या कामाला आता वेग आला आहे.
पुणे : करोनामुळे रखडलेल्या बारामती-फलटण-लोणंद रेल्वे मार्गाच्या कामाला आता वेग आला आहे. या मार्गातील बारामती ते फलटण या मार्गात असलेल्या १३ गावांतील जमिनी ताब्यात घेण्याची प्रक्रिया वेगाने केली जात असून जूनअखेर ही प्रक्रिया पूर्ण केली जाणार आहे. भूसंपादनाचे काम वेळेत पूर्ण होण्यासाठी या कामाचा दररोज आढावा घेण्याचा निर्णय घेतला असल्याचे जिल्हाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख यांनी सांगितले.
     
...
more...
या रेल्वेमार्गापैकी फलटण ते लोणंद या मार्गाचे काम पूर्ण झाले आहे. मात्र, बारामती ते फलटण या मार्गातील भूसंपादनाचे काम अद्याप अपूर्ण आहे. या मार्गातील लाटे व माळवाडी या दोन गावांमधील भूसंपादनाचे काम पूर्ण झाले आहे. उर्वरित १३ गावांतील भूसंपादनाचे काम वेगाने होण्यासाठी नियोजन करण्यात आले आहे.
याबाबत बोलताना जिल्हाधिकारी डॉ. देशमुख म्हणाले, ‘बारामती ते फलटण रेल्वेमार्ग ३७.२० किलोमीटर लांबीचा आहे. त्यामध्ये १५ गावांतील जमिनी ताब्यात घ्याव्या लागणार आहेत. दोन गावांतील भूसंपादन पूर्ण झाले आहे. उर्वरित गावांतील भूसंपादन जून महिन्याअखेर पूर्ण करण्यात येणार आहे. त्यासाठी भूसंपादनाचा आढावा दररोज सायंकाळी साडेसहा वाजता दूरदृश्यप्रणालीद्वारे घेण्यात येत आहे.’
     दरम्यान, या रेल्वेमार्गासाठी १८३ हेक्टर जमीन ताब्यात घ्यावी लागणार आहे. वाटाघाटीने भूसंपादन केले जाणार असून जमिनीची मोजणी आणि मूल्यांकनाचे प्रस्ताव वेगाने करण्यात येणार आहेत. भूसंपादन करताना निधीची कमतरता भासणार नाही. रेल्वे विभागाकडून ११५ कोटी रुपयांचा निधी मिळाला आहे. त्यापैकी सुमारे ५० कोटी रुपयांचा निधी शिल्लक आहे. त्यामुळे जमीनमालकांना ताबडतोब मोबदला दिला जाणार आहे, असेही डॉ. देशमुख यांनी सांगितले.
प्रकल्पाचा आढावा
बारामती ते फलटण या रेल्वे मार्गाच्या भूसंपादनासाठी दररोज दूरदृश्यप्रणालीद्वारे आढावा घेण्यात येत आहे. जूनअखेर भूसंपादनाचे काम पूर्ण करण्याचे नियोजन आहे. भूसंपादनासाठी ५० कोटी रुपयांचा निधी शिल्लक असल्याने निधीची कमतरता भासणार नाही. त्यामुळे प्रकल्पाचे काम तातडीने पूर्ण करण्याचा प्रशासनाचा मानस आहे.
– डॉ. राजेश देशमुख, जिल्हाधिकारी

Rail News
7418 views
May 30 (13:52)
Believe in You
akhileshchauras~   3499 blog posts
Re# 5360289-1            Tags   Past Edits
MVA ki sarkar mai bhi iss line ki aisi दुर्दशा

साहेब अभी ना बनवा पाए तो कब बनवाएंगे??
Rail News
10315 views
IR Affairs
ER/Eastern
May 29 (11:28)   भारत का वो रेलवे स्टेशन जिसका नहीं है कोई नाम, ट्रेन रुकने पर यात्री हो जाते हैं परेशान

Biplob Kagyung~   561 news posts
Entry# 5360366   News Entry# 487595         Tags   Past Edits
Do you know only railway station of india without name sankri
बिना नाम के सालों से ट्रेन का बसेरा है ये स्टेशन (इमेज- इंटरनेट)
भारत में एक ऐसा रेलवे स्टेशन है जिसका कोई नाम नहीं है. यहां ट्रेनें आकर रूकती तो हैं, लेकिन उन्हें ये नहीं पता होता है कि स्टेशन का नाम क्या है. इस बेनाम रेलवे स्टेशन की काफी चर्चा है.
दुनिया
...
more...
में मौजूद हर चीज की एक पहचान होती है. ये पहचान उसके नाम से की जाती है. चाहे इंसान हो या कोई चीज, हर किसी का एक नाम होता है और इसी नाम से उसे आगे पहचाना जाता है. अगर कोई किसी जगह पर जाता है तो उसके बारे में भी नाम के जरिये ही बताया जाता है. भारत में हर छोटी सी जगह का एक नाम है. चाहे वो कोई गांव हो या क़स्बा. अगर कोई कहीं जाता है तो वो उसी नाम की जरिये जगह की जानकारी बाकी लोगों को देता है. अगर आप ट्रेन से ट्रेवल कर रहे होते हैं, तो अपनी मंजिल तक पहुंचने से पहले वो कई दूसरे डेस्टिनेशन को क्रॉस करते हैं. रेलवे स्टेशन के नाम से वो उस जगह के बारे में दूसरों को बताते हैं.
भारत में जिस भी स्टेशन से आप जाएंगे, तो पाएंगे कि उसका कोई एक नाम है. लेकिन अगर हम आपसे ये कहें कि भारत में एक ऐसा स्टेशन है, जिसका कोई नाम नहीं है तो? शायद आपको लगेगा कि हम मजाक कर रहे हैं लेकिन आपको बता दें कि भारत के वेस्ट बंगाल में एक ऐसा रेलवे स्टेशन है जिसका कोई नाम नहीं है. भारत जहां वर्ल्ड में रेलवे नेटवर्क के मामले में चौथे नंबर पर है, वहां एक ऐसा स्टेशन है जिसका कोई नाम नहीं है.
इस राज्य में है मौजूदजिस रेलवे स्टेशन की हम बात कर रहे हैं वो भारत के वेस्ट बंगाल में है. यहां के बर्दवान में स्थित एक ऐसा स्टेशन है जो बेनाम है. शहर से 35 किलोमीटर दूर रैना नाम के गांव में इस रेलवे स्टेशन को बनाया गया था. 2008 में इसका निर्माण किया गया था तब से लेकर अब तक इसका कोई नाम नहीं है. 2008 से पहले रैनानगर नाम से इस स्टेशन को जाना जाता था.
इसलिए नहीं पड़ा कोई नामरैनानगर रेलवे स्टेशन से जाना जाने वाला ये स्टेशन बाद में बेनाम हो गया. वजह बना दो गांवों के बीचचलने वाला मतभेद. रैना और रैनानगर के बीच काफी समय से मतभेद चलता आया है. ये स्टेशन रैना गांव की जमीन पर था. लेकिन इसका नाम रैनानगर रखा गया. इसी को लेकर दोनों में लड़ाई होने लगी. बाद में रेलवे स्टेशन पर मौजूद सकते नेम बोर्ड को हटा दिया गया. तब से लेकर अब तक इस स्टेशन का कोई नाम नहीं है. हालांकि, अभी भी इस स्टेशन का टिकट रैनानगर एक नाम से काटा जाता है.

1 Public Posts - Sun May 29, 2022

Rail News
3341 views
May 30 (13:50)
Believe in You
akhileshchauras~   3499 blog posts
Re# 5360366-2            Tags   Past Edits
1 compliments
🤣🤣🤣🤣🤣
ना नैना और ना ही नैनानगर

मैना रख दो नाम
Rail News
10562 views
May 29 (16:44)   नर्मदा नदी के ऊपर बन रहा देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज, इस रूट पर दौड़ेंगी डबल डेकर मालगाड़ी

SUBHASH   1497 news posts
Entry# 5360680   News Entry# 487614         Tags   Past Edits
Longest Railway Bridge in Bharuch: रेलवे मंत्रालय द्वारा गुड्स ट्रेन के लिए विभिन्न रूट्स पर अलग लाइन डाली जा रही है. इसके लिए गुजरात के भरुच के पास नर्मदा नदी के ऊपर देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज बनाया जा रहा है.
Indian Railway, Longest Rail Bridge: भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने मालगाड़ी की बढ़ती डिमांड को देखते हुए गुड्स ट्रेन के लिए अलग से लाइन डालने का निर्णय लिया है. ये लाइन मुंबई से उत्तर प्रदेश को जोड़ेगी. इस बीच, गुजरात के भरुच के पास नर्मदा नदी के ऊपर देश का सबसे लंबा रेलवे ब्रिज बनाया जा रहा है, जिसका काम अंतिम चरण में चल रहा है. इस ब्रिज की लम्बाई 1396.35 मीटर है. 
मुंबई
...
more...
से यूपी को जोड़ेगी ये लाइनरेलवे मंत्रालय के द्वारा मुंबई JNPT (जवाहरलाल नहेरु पोर्ट) से लेकर उत्तर प्रदेश के दादरी तक गुड्स ट्रेन के लिए अलग लाइन डाली जा रही है, जिसको वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेईड कॉरिडोर  (Western Dedicated Freight Corridor) नाम दिया गया है, जो 1504  किमी का होगा. गुजरात में फिलहाल पालनपुर तक लाइन शुरू हो गई है और अगले कुछ महीनों  में वड़ोदरा तक की लाइन शुरू हो जाएगी. इस कॉरिडोर के लिए भरूच  के पास नर्मदा नदी पर रेलवे ब्रिज बनाया जा रहा है. माना जाता है की यह देश का सबसे लंबा ब्रिज होगा, जिस पर डबल डेकर गुड्स ट्रेन चलेंगी. 
नर्मदा नदी के ऊपर बन रहा ब्रिजनर्मदा नदी के ऊपर बन रहा ब्रिज 1396.35 मीटर यानी के करीब डेढ़ किलोमीटर का है. ये देश का सबसे लंबा ब्रिज हो सकता है. इस ब्रिज में कुल 29 स्पान हैं और कुछ ही दिन पहले उस पर अंतिम गर्डर लगाया गया है. एल.एन्ड टी कंपनी के  द्वारा यह ब्रिज बनाया जा रहा है. इस पर से 15000 टन की क्षमता के साथ गुड्स ट्रेन दौड़ेंगी, जिसकी स्पीड करीब 100 से 120 किलोमीटर की रहेगी.
डेडिकेटेड फ्रेईड कॉरिडोर के अधिकारी ने क्या बताया?रेलवे के वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेईड कॉरिडोर के अधिकारी जीतेन्द्र अग्रवाल ने बताया की यह ट्रैक एक साल के अंदर पूरा शुरू हो जाने के प्रयास किए जा रहे है. इस साल के अंत तक वड़ोदरा तक गुड्स ट्रेन दौड़ना शुरू हो जाएंगी. यह ट्रैक बनने से पैसेंजर ट्रेन को भी अलग ट्रैक मिल जायेगा और गुड्स का आवागमन भी सरल हो जाएगा.

1 Public Posts - Sun May 29, 2022

4110 views
May 30 (13:46)
Believe in You
akhileshchauras~   3499 blog posts
Re# 5360680-2            Tags   Past Edits
रिपोर्टर जोश जोश मै गुजरात की जगह देश का सबसे लंबा बता दिया

टूटपूंझिया
Rail News
32697 views
IR Affairs
NCR/North Central
May 26 (07:09)   बुंदेलखंड एक्सप्रेस का नाम बदलकर पीतांबरा एक्सप्रेस रखा जाएगा

bamdevnagariBanda^~   301 news posts
Entry# 5357032   News Entry# 487310         Tags   Past Edits
झांसी। ग्वालियर-बनारस के बीच चलने वाली बुंदेलखंड एक्सप्रेस का नाम बदलने की तैयारी शुरू कर दी गई है। इस गाड़ी को नया नाम पीतांबरा एक्सप्रेस दिया जाएगा। एक पखवाड़े पहले हुई झांसी रेल मंडल के सांसदों की बैठक में ये प्रस्ताव आया था, जिस पर अमल शुरू कर दिया गया है। स्थानीय रेलवे प्रशासन द्वारा इसका प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है।विज्ञापनग्वालियर-बनारस के बीच चलने वाली बुंदेलखंड एक्सप्रेस 23 स्टेशनों से होकर गुजरती है। इनमें से 11 स्टेशन बुंदेलखंड क्षेत्र के विभिन्न जनपदों के हैं। यही वजह है कि बुंदेलखंड के लोगों की यह पसंदीदा ट्रेनों में से एक है। प्रयागराज, बनारस और ग्वालियर की ओर जाने वाले ज्यादातर यात्री इसी ट्रेन में सफर करना पसंद करते हैं। रोजाना तीन हजार यात्री इस ट्रेन से यात्रा पूरा करते हैं। अब इस ट्रेन का नाम बदलकर पीतांबरा एक्सप्रेस करने की जा तैयारी है। इसका प्रस्ताव छह मई को हुई झांसी रेल मंडल...
more...
से संबंधित सांसदों की बैठक में भिंड की सांसद संध्या सुमन की ओर से आया था। अब इस दिशा में मंडल रेल प्रशासन की ओर से कार्यवाही शुरू कर दी गई है। इसका ड्राफ्ट तैयार कर रेलवे मुख्यालय भेजा जाएगा। मुख्यालय की मुहर लगने के बाद ट्रेन का नाम परिवर्तित कर दिया जाएगा।इन स्टेशनों से गुजरती है यह ट्रेनझांसी। बुंदेलखंड एक्सप्रेस ग्वालियर से चलकर डबरा, दतिया, झांसी, निवाड़ी, मऊरानीपुर, हरपालपुर, बेलाताल, कुलपहाड़, महोबा, बांदा, अतर्रा, चित्रकूट धाम कर्वी, मानिकपुर, शंकरगढ़, नैनी, प्रयागराज जंक्शन, प्रयाग जंक्शन, फूलपुर, जंगई, सुरयावां, भदोही होते हुए बनारस पहुंचती है। लौटते में भी ये गाड़ी इन सभी स्टेशनों से होते हुए ग्वालियर पहुंचती है।सांसद के ही प्रस्ताव पर बदला था झांसी स्टेशन का नाम झांसी। पिछले साल वर्ष 2021 दिसंबर माह में झांसी स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई कर दिया गया था। इसका प्रस्ताव 19 सितंबर 2019 को हुई झांसी रेल मंडल के सांसदों की बैठक में आया था। राज्यसभा सांसद प्रभात झा ने झांसी स्टेशन का नाम बदलने का प्रस्ताव दिया था, जिस पर अमल करते हुए स्टेशन का नाम बदला जा चुका है।लगाए गए हैं एलएचबी कोचझांसी। रेलवे द्वारा बुंदेलखंड एक्सप्रेस में अभी हाल ही में एलएचबी कोच (लिंक हाफमैन बुश) कोच लगाए हैं। जर्मन तकनीक से बने इन कोचों की पलटने की संभावना कम होती है। इसके अलावा इन कोचों के लगने से ट्रेन की रफ्तार में 20 किमी प्रतिघंटा तक की बढ़ोतरी हुई है।बुंदेलखंड एक्सप्रेस का नाम बदलकर पीतांबरा एक्सप्रेस रखे जाने का प्रस्ताव भिंड की सांसद की ओर से पिछले दिनों हुई बैठक में आया था। इसका ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा है, जिसे रेलवे मुख्यालय भेजा जाएगा। आगे की कार्रवाई मुख्यालय स्तर पर ही होगी।- मनोज कुमार सिंह, जनसंपर्क अधिकारी

1 Public Posts - Thu May 26, 2022

5 Public Posts - Fri May 27, 2022

13305 views
May 29 (00:45)
Believe in You
akhileshchauras~   3499 blog posts
Re# 5357032-15            Tags   Past Edits
I request the moderator to take strict action against you to make fun of Hindu goddess name and hurt the sentiments.

3 Public Posts - Tue May 31, 2022
Page#    580 Blog Entries  next>>

Leading Polls

Rail News

New Trains

Site Announcements

  • Entry# 5388512
    Jun 24 (08:45AM)


    As announced previously, there are a few changes coming to IRI user accounts, based on past practices. 1. As before, you will be able to quickly DELETE your IRI User account at ANY time. However, the menu option for this was hidden in the profile page, and could not easily be located....
  • Entry# 5148000
    Nov 29 2021 (06:40AM)


    A new feature will be released soon, whereby you can follow blogs tagged with specific Trains & Stations. If you have already posted blogs tagged with some Train/Station, then you will be set to automatically follow that Train/Station. Thereafter, any future news/blogs tagged with those Trains/Stations will be marked to your...
  • Entry# 5093784
    Oct 13 2021 (07:04AM)


    These days, every other day, we are getting requests from members to allow email login to their FB-based IRI account. 10 years ago, we had given the option for users to login through FaceBook - in retrospect, this was a mistake. These days, apparently, users are quitting FaceBook in droves because...
  • Entry# 4906979
    Mar 14 2021 (01:12AM)


    Followup to: Fmt Changes The new version of FmT 2.0 will soon be here - in about 2 weeks. As detailed in the previous announcement, many of the old FmT features like Train TT, Speedometer, Geo Location, etc. will be REMOVED. It will be a bare-bones simple app, focused on trip blogging. It...
  • Entry# 4898771
    Mar 06 2021 (10:33PM)


    There are some changes coming to FMT. Many of the features of FMT, like station arrival, TT, speed, geo, passing times, station time, etc. are ALREADY available in OTHER railway apps. So all of these features will be REMOVED. We'll have ONLY BLOGGING - quick upload of pics/videos/audio, etc. You may attach...
  • Entry# 4785432
    Nov 21 2020 (02:51AM)


    We are unifying the Bookmark scheme for Blogs & PNRs. Previously, we had different systems of "Followed Blogs", "PNR History", "My PNR Posts", "My PNR Post Predictions", "Stamp Alerts", etc. which were somewhat confusing. Hereafter: For PNRs: 1. You may add ANY PNR to your bookmarks through the "Add Bookmark" link in the...
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Mobile site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy